पन्ना रत्न के फायदे, नुकसान और सरल पहचान | Emerald Benefits and Demerits

Table of Contents show
पन्ना रत्न pannaratna

( Pannaratna ) पन्ना रत्न क्या है इसके बारे में 

पन्ना रत्न प्रकृति में पाया जाने वाला एक ऐसा रत्न है जिसकी कीमत अमूल्य है इसे ही हम पन्ना कहते है। इस रत्न को इंग्लिश में एमरल्ड स्टोन भी कहा जाता है और यह हरे रंग का होता है। इसका रंग हल्का तथा गहरे हरे रंग का भी पाया जाता है। 

इस रत्न के हरे होने का कारण इसके अन्दर पाया जाने वाला क्रोमियम और वेनेडियम तत्व होते हैं। ज्यादातर इस रत्न को कोयले की खानों में से निकाला जाता है। यह पन्ना जो सबसे ज्यादा प्रभावी और मूल्यवान है वह अमेरिका देश के कोलम्विया शहर में पाया जाता है। 

इसकी खाद्याने कोलंबिया शहर की म्युजो सिटी के घने जंगलों की पहाड़ी छेत्रों में होती है। जहाँ पर आम आदमी आसानी से नहीं जा सकता है। यह इतनी खतरनाक जगह है यहाँ पर बहुत जहरीले कीड़े मकोड़े भी पाय जाते है। इसलिए इस रत्न को सिर्फ स्थानीय लोग ही निकाल कर ला पाते है। 


ज्योतिष परामर्श के लिए फॉर्म भरें

इस लेख में आपको इन सबके जवाब मिल जाएंगे ।

  • पन्ना रत्न के फायदे
  • पन्ना रत्न के नुकसान
  • पन्ना की कीमत क्या है
  • पन्ना किस उंगली में पहनना चाहिए
  • पन्ना की कीमत कितनी है
  • पन्ना कितने रत्ती का पहनना चाहिए
  • पन्ना किस धातु में पहनना चाहिए
  • पन्ना किसे पहनना चाहिए
  • पन्ना पहनने की विधि

अन्य सभी रत्नों के बारे में विस्तृत जानकारी पाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।


इस रत्न को निकालने के लिए कोयले को बहुत बारीकी से देखना पड़ता है। इसके अलावा यहाँ पर खाद्यानों के धसने, चट्टानों के खिसकने का भी डर होता है। जिससे उन लोगों की जान का भी खतरा बहुत ज्यादा होता है। यहाँ की खाद्यानो से पाय जाने वाले पन्ना की कीमत बाजार में हजारों, लाखों रूपए है। 

जब यह पन्ना कोयले की खाद्यानों से निकाला जाता है तब इसमें कई प्रकार की दरारें पड़ जाती है इन दरारों को खत्म करने के लिए इस रत्न की ओइलिंग की जाती है। यानी इसमें तेल लगाकर काटा जाता है।  इसके बाद पन्ना का जो आकार होता है वो बदल जाता है जिससे यह पन्ना दिखने में और अधिक अच्छा लगने लगता है और इसकी संरचना में सुधार हो जाता है।

इसका जो स्थिर होने का भाव है वो भी सही हो जाता है और इसमें स्पष्टता भी आ जाती है। इस रत्न को ऐसा बनाने के लिए देवदार तेल का उपयोग किया जाता है।  इन सभी कार्यों को पूरा करने के बाद इस पन्ना की गुडवत्ता में भी सुधार हो जाता है । इस कारण यह लंबे समय तक टिकाऊ रहता है।  इस पन्ना की गुडवत्ता का निर्धारण करने के लिए 4 मापदंड अपनाय जाते है। 

जिसमे रंग, आकार, स्पष्टता और वजन यानी कैरेट आता है। यह रत्न इतना प्रभावशाली है की इसे पहनने के बाद इसके ज्यादातर सकारात्मक प्रभाव देखने को मिलते है । इस रत्न के प्रभाव से कुछ कुछ मानसिक विकारों के सुधार होता है। ऐसे लोग जिनकी कुंडली में बुध कमजोर स्थिति में होता है।

ऐसे लोगों को अपनी मानसिक तथा बौधिक छमता में बढ्होत्री करने के लिए इस रत्न को पहन सकते है। ऐसे लोग जो बोलने में हकलाते है या तुतलाते है उन लोगों को ज्यादातर रत्न पहनने की सलाह दि जाती है। 

ज्योतिष के अनुसार यह भी माना जाता हैं की यदि इस पन्ना को किसी गर्भवती महिला की कमर में बाँध दिया जाय तो उस महिला को डिलीवरी के समय होने बाले दर्द में बहुत ज्यादा राहत मिल जाती है। जिससे वह बच्चे को आसानी से जन्म दे सकती है। 


पन्ना रत्न की तकनीकी विज्ञान 

इस रत्न में दो सिलिकेट पाए जाते है जिनके नाम बेरिलियम और एल्युमीनियम होते है। इसी कारण इस पन्ना को मिश्रित खनिज कहा जाता है।  इसका रंग हरा होता है तथा इसे हम ह्ल्के हरे, चटक हरे रंग का भी पाते है। इस रत्न की कठोरता हम मोह्स स्केल से मापते है जिससे हमें इस रत्न की कठोरता 7.5 से 8.0 तक की मिलती है। 

इस रत्न की इसी कठोरता की बजह से पन्ना आभूषण सम्बन्धी सभी कार्यों में बहुत अच्छा माना जाता है। लेकिन इस पन्ना की अधिक कठोरता की वजह से इसकी जो स्थिरता होती है उसमे बहुत समस्यां उत्पन्न होती है। हमें प्रकृति में ऐसे रत्न बहुत कम मिलते है जिनकी सतह पर कोई टूट फूट या दरार न हो। इस रत्न में जब दरारे होती हैं तो यह रत्न बहुत कमजोर हो जाता है।

जिससे इस पन्ना के टूटने का बहुत बड़ा डर रहता है। इस रत्न में जो दरारें हो जाती है उन्हें भरने तथा इसकी मजबूती को बढाने के लिए इसमें कई प्रकार की सामग्री मिश्रित की जाती है। इन सामग्रियों के मिलाने के बाद इस पन्ना की सुन्दरता तो बढ़ जाती है परन्तु इसकी स्थिरता में कोई सुधार नही होता है। 


पन्ना रत्न के फायदे | Benefits of Emerald

  • यह एक बुध का रत्न है इसे पहनने से जातक का शारीरिक रंग रूप निखरता है जिससे लोग उसकी ओर आकर्षित होने लगते हैं। ऐसे जातक जिन्हे समाज में सम्मान नही मिलता यदि वे इस रत्न को धारण करते हैं तो उनका गौरव बढ़ेगा और समाज में मान सम्मान भी मिलेगा। यदि जातक मानसिक शक्ति से कमजोर है तो उसके लिए भी यह रत्न लाभकारी साबित होगा।
  • वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बताया गया है की पन्ना धारण करने से जातक को असत्य का सामना करने की शक्ति प्राप्त होती है। यदि जातक अधिक खर्चे करता है जिसके कारण वह अपना धन संचय नही कर पाता तो उनके लिए भी पन्ना लाभकारी होता है जिसके प्रभाव से खर्चों में कमी आती है और धन संचय करने में मदद मिलती है।
  • यदि जातक का अपने भाई-बहनों के साथ संबंध अच्छे नही रहते हैं तो यह पन्ना धारण करना चाहिए, जिसकी मदद से आपके संबंध अच्छे होंगे। यदि आपसे कार्यों में धैर्य नही रखा जाता जिसके कारण आपका काम खराब हो जाता है, तो आपको पन्ना अवश्य धारण करना चाहिए। आप अपने गुस्से पर काबू नही कर पाते हैं या गुप्त शत्रुओं के कारण तनाव महसूस करते हैं तो आपको रत्न धारण करना चाहिए।
  •  यदि जातक को अपने परिवार में सुख या प्यार नही मिलता तो पन्ना धारण करना चाहिए यह आपके लिए लाभकारी होगा। यदि आपको वाहन से जुड़ी समस्याएँ रहती हैं जैसे वाहन खरीदना चाहते है पर ले नही पाते, वाहन चलाते समय दुर्घटनाएँ होना आदि से बचने के लिए आपको पन्ना रत्न अवश्य पहनना चाहिए। पिता की संपत्ति नही मिल रही तो आपके लिए पन्ना मददगार साबित होगा।
  • यदि जातक संतान प्राप्ति के लिए परेशान है तो पन्ना धारण करना चाहिए क्योंकि इसके शुभ प्रभाव से संतान की प्राप्ति होती है। मंगलकार्यों में आने वाली बाधाओं को कम करता है यह पन्ना, जातक को बुद्धिमान, सत्य के साथ चलने वाला बनाता है। गुप्त रोगों से भी मुक्त कराने में लाभदायक होता है।
  •  पन्ना रत्न धारण करने से जातक को बीमारियों से लड़ने की शक्ति प्राप्त होती है तथा यह जातक को रोग मुक्त बनाने में भी मददगार साबित होता है। कानूनी कार्यवाही में पड़े लोगों के लिए सबसे ज्यादा लाभदायक होता है। जातक को चिंता मुक्त बनाता है और शत्रुओं का मुक़ाबला करने में मदद करता है।
  • इस रत्न के धारण करने से जातक के कार्यों में आने वाली रुकाबटें कम होती है और कार्य सफल होते हैं। जीवनसाथी के संबंध अच्छे रहते है और प्यार बढ़ता है। ऐसे जातक जिंका विवाह नही हो रहा उन्हे यह रत्न अवश्य धारण करना चाहिए क्योंकि इस रत्न के शुभ प्रभाव से आपका विवाह सम्पन्न होगा। व्यवसाय में होने वाले गलतफहमियों से बचाता है।
  • जिन जातकों को अपने जीवन से ज्यादा खतरा रहता है उन्हे यह रत्न अवश्य धारण करना चाहिए क्योंकि इसके शुभ प्रभाव से आपके जीवन पर आने वाले सभी संकट दूर होंगे। इस रत्न के प्रभाव से अचानक धन लाभ होने के भी मौके बनते हैं। जीवन में अच्छे परिवर्तन के लिए भी इस रत्न को धारण किया जाता है। ऐसे व्यक्ति जिनकी पर्सनल जिंदगी में उतार चढ़ाव बना रहता है और मुसीबतों का सामना करना पड़ता है तो वे इस रत्न को अवश्य धारण करें।
  • पन्ना रत्न को जीवन में सफलता प्राप्त करने में भी मददगार बताया गया है। यदि जातक अपने भाग्य को जागृत करना चाहता है तो इस रत्न को अवश्य पहने। धर्म के कार्यों में आपका मन केन्द्रित रहता है, गुरुओं और पिता का सहयोग मिलता है। ससुराल पक्ष से यदि विवाद चल रहा है तो पन्ना आपके लिए मददगार साबित होगा। क्योंकि इसके प्रभाव से आपके विवाद सुलझ जाएंगे।
  • पन्ना रत्न धारण करने से आपको पिता के कार्यों में सहयोग मिलता है, सरकार की तरफ से भी सहयोग मिलेगा। कारोबार में बृद्धि के लिए भी यह रत्न बेहद अच्छा माना जाता है। नौकरी में अच्छे पद की प्राप्ति के लिए भी यह लाभदायक साबित होता है। यदि आप आपको अपने परिवार में किसी चीज को लेकर अधिकार नही मिलता है तो आपको यह अवश्य पहनना चाहिए। कभी कभी ऐसे लोग होते है जिनको जवानी में ही किसी कारण घुटनों में समस्या हो जाती है तो उन लोगो को इस समस्या से निजात मिलता है।
  • जब जातक की कुंडली में बुध लाभ भाव में बैठा हो तब यह रत्न पहनना सबसे ज्यादा फायदेमंद साबित होता है। आय में बढ़ोत्तरी होती है, अधूरी मनोकामनाएँ पूरी होती है। यदि आप शादीशुदा हैं तो आपको इस रत्न के प्रभाव से पुत्रवधू का सौभाग्य प्राप्त होगा। इसके प्रभाव से जातक को अच्छा काम करने का मौका मिलता है जिससे उसकी समाज में प्रशंसा होती है।
  • यदि जातक को व्यापार में पैसा लगाने में किसी तरह की दिक्कत आती है तो पन्ना अवश्य पहनना चाहिए। जिससे आपको हो रही समस्याओं से निजात मिल सके। मोक्ष की प्राप्ति पाने के लिए भी यह पन्ना रत्न सबसे ज्यादा अच्छा माना जाता है। पन्ना धारण करने से मृत्यु का समय टल सकता है। आँखों से जुड़ी समस्या में अच्छा काम करता है।

पन्ना रत्न के लाभ

रचनात्मक और कलात्मक क्षेत्रों में पन्ना के लाभ 

पन्ना रत्न को वैदिक ज्योतिष शास्त्र में रचनात्मक और कलात्मक क्षेत्रों से जुड़े जातकों के लिए बहुत लाभकारी बताया गया है। पन्ना रत्न धारण करने से जातक को संगीत, फैशन, पेंटिंग और सभी क्षेत्रों में सफलता मिलती है। यदि जातक इस रत्न को धारण करता है तो उसे प्रतियोगी क्षेत्रों में सर्वश्रेष्ठ पद की प्राप्ति होती है। 

करियर और कारोबार में सफलता पाने के लिए पन्ना रत्न

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बताया गया है की यदि जातक को अपने करियर में सफलता नही मिल रही है, कारोबार में बाधाएँ उत्पन्न हो रही है तो जातक पन्ना रत्न पहन सकता है क्योंकि पन्ना रत्न करियर में सफलता और कारोबार में बढ़ोत्तरी के लिए सबसे ज्यादा सहायक रत्न माना जाता है। इस रत्न को धारण करके आप अपने जीवन में सफलता को गले लगा सकते हैं। 

व्यापार में व्रद्धि के लिए पन्ना रत्न 

जैसा की आप सभी जानते हैं की पन्ना रत्न कई चीजो के लिए लाभकारी होता है वैसे ही पन्ना रत्न व्यापार से जुड़े लोगो और व्यापार में वृद्धि के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। क्योंकि यह रत्न जातक को व्यापार में होने वाले नुकसान और घोटाले से बचाने में मदद करता है। इसीलिए इस रत्न को व्यापार में बढ़ोत्तरी के लिए सबसे ज्यादा प्रभावशाली और कारगर माना जाता है। 

गरीबी से बचाता है पन्ना रत्न 

आपने देखा होगा ज़्यादातर जातकों के साथ ऐसा होता है काम न मिलने की वजह से घर में पैसे की किल्लत और कर्ज का बोझ हो जाता है, जिससे पन्ना रत्न मुक्त कराता है। इसीलिए पन्ना रत्न को गरीबी से बचाने का रत्न कहा जाता है। 


पन्ना रत्न के सकारात्मक प्रभाव से होने वाले लाभ
  • पन्ना रत्न धारण करने से जातक की बुद्धि में विकास होता है और जातक की सोचने-समझने की शक्ति में भी विकास होता है। 
  • यदि किसी जातक को पेट से जुड़ी कोई समस्या है तो उसके लिए भी यह रत्न फायदेमंद साबित होगा।
  • नौकरी में प्रमोशन पाने के लिए भी पन्ना बेहद लाभकारी सिद्ध होता है।
  • व्यापार में बढ़ोत्तरी के लिए भी पन्ना रत्न फायदेमंद साबित होता है। 
  • पन्ना रत्न धारण करने से जातक की वाणी में मधुरता और संयम बरतने की शक्ति प्राप्त होती है। 
  • इस रत्न को धारण करने से जातक की अधूरी मनोकामनाएँ भी पूरी हो जाती है। 
  • यदि किसी बीमार व्यक्ति हो पन्ना धारण करवाया जाता है तो वह जातक बहुत जल्द स्वस्थ हो सकता है और उसे बीमारी से लड़ने की शक्ति मिलती है। 
  • ऐसे जातक जो संतान को लेकर परेशान हैं उनके लिए भी यह पन्ना रत्न बेहद लाभकारी सिद्ध होता है क्योंकि पन्ना धारण करने से जल्द ही संतान सुख प्राप्त होता है। 
  • वे जातक जो मिथुन लग्न के हैं यदि वे रत्न धारण करते हैं तो उन्हे पारिवारिक सुख मिलता है और परिवार पर आने वाली मुसीबतें कम होती है। 
  • यदि जातक व्यापार, माता-पिता, प्रेम और नौकरी में बढ़ोत्तरी चाहते हैं तो उनके लिए यह पन्ना रत्न लाभकारी होगा। 
  • ऐसे जातक जिनका बुध कमजोर होता है अगर वे इस रत्न को धारण करते हैं तो उनके साथ-साथ उनकी बहन के जीवन में होने वाली परेशानियाँ भी कम हो जाती है। 

कुछ ऐसे नियम जो पन्ना धारण करने से पहले देखना बहुत जरूरी हैं 

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बताया गया है की यदि लाल किताब के माध्यम से किसी जातक के घर में कोई गृह निद्रा अवस्था में हैं तो उसे जागृत करने के लिए पन्ना अवश्य धारण करें। यदि आपकी कुंडली में बुध कमजोर स्थिति में है तो जातक को बुध का रत्न पन्ना धारण करने से बुध की स्थिति मजबूत होती है।

अगर आपकी कुंडली में बुध की अंतर्दशा या महादशा चल रही हो और बुध आपकी कुंडली के 8वे या 12वे भाव में हो तो पन्ना रत्न अवश्य धारण करना चाहिए इससे आपको लाभ मिलेगा। यदि आपको नौकरी या व्यापार में रुकाबटे आ रही हैं तो आप पन्ना रत्न अवश्य धारण करें इससे आपको होने वाली रुकाबटो में कमी आएगी।

नोट:- यदि आप अपने जीवन से जुड़ी किसी भी तरह की समस्या से बचने का उपाय चाहते हैं तो आप हमारे ज्योतिष आचार्या दीपांशु सिंह जी से परामर्श ले सकते हैं।


पन्ना रत्न के नुकसान | Disadvantages of Emerald

इस पूरे संसार में जितने भी रत्न पाए जाते है उन सभी रत्नों के जितने फायदे होते है उससे कई गुना ज्यादा नुकसान भी होते है। ऐसे ही रत्न के बहुत से नुकसान है। आइए में आपको नीचे दिए गए बिंदुओं में बताता हूं कि यदि पन्ना विधि पूर्वक न पहनने से व्यक्ति को क्या क्या नुकसान हो सकते है। तो आप सभी नीचे दिए गए बिंदुओं को कृपया ध्यान पूर्वक पढ़े।

  • इस पन्ना रत्न को वो लोग कभी ना धारण करे जिनकी कुंडली में बुध अच्छी स्थिति में नहीं बैठा है। ऐसे व्यक्तियों को अपने निजी जीवन में बहुत सी समस्याओं से सामना करना पड़ता है लेकिन आप ये ना सोचे की ये पन्ना आपको फायदा देगा। जब बुध का आपके उपर बुरा प्रभाव होता है तो इस रत्न को पहनने से और ज्यादा परेशानी होती है। इसलिए कभी भी रत्न धारण करने से पहले किसी अनुभवी ज्योतिष को आप अपनी कुंडली जरूर दिखवा लें। 
  • ऐसे लोग जो हमेशा किसी भी बात को कहने में झूठ का सहारा लेते है और हमेशा बुरी बाते करते है और गंदे काम करते है। तथा ऐसे व्यक्ति जिनकी आदत बातों को बढ़ा चढ़ा कर कहने की होती है। ऐसे व्यक्तियों को तो भूलकर पन्ना रत्न नहीं पहनना चाहिए।  क्योंकि  यदि वे पहन भी लेंगे तो उन्हें इसके सिर्फ बुरे प्रभाव ही सहने पड़ेंगे अच्छे नहीं इसलिए इसे कभी ना पहने। 
  • ऐसे व्यक्ति जो हमेशा लड़ाई करते रहते है जुआ खेलते है और हमेशा बुराई का साथ देते है। लड़ाई करने के लिए छोटी सी बात को बड़ा बना देते हैं। उन्हें इस रत्न को धारण नहीं करना चाहिए क्योंकि ये उनके लिए बहुत ज्यादा हानिकारक हो सकता है। बाकी आप हमारे या किसी अच्छे ज्योतिषी से आफ्नै कुंडली दिखवा के ल्क्की स्टोन पहन सकते है। 
  • इस पन्ना रत्न को वो लोग ना पहने जो हमेशा दूसरों का बुरा सोचते रहते है या दूसरों के लिए कोई साज़िश करते रहते है।  ऐसा लोगों को इस रत्न से परहेज करनी चाहिए हां ये लोग पन्ना पहन तो सकते है लेकिन किसी अनुभवी ज्योतिष आचार्य के परामर्श से। 
  • यह रत्न उन व्यक्तियों के लिए बहुत हानि कारक हो सकता है जो लोग चोरी चकारी करते रहते है या कभी चोरी की हो तो ऐसे व्यक्तियों को पन्ना रत्न न पहनने की सलाह दी जाती है। क्योकि  ऐसे व्यक्ति जो चोरी करते है उनकी ये आदत छूटती नहीं है इसलिए ये लोग रत्न ना पहने तो इनके लिए ज्यादा अच्छा होगा। 
  • ऐसे लोग जो नशा पत्ती करते है या फिर कोई ऐसे व्यक्ति जो किसी तरह की एलर्जी से जूझ रहे है वे लोग इस पन्ना के बुरे प्रकोप से बचना चाहते है तो किसी ज्योतिष आचार्य से पूंछ सकते है की पन्ना रत्न ( Panna Ratna ) आपके लिए हानिकारक है या लाभदायक है।
  • यह पन्ना रत्न उन लोगों के लिए लाभदायक होता है जिन लोगो की कुंडली में बुध कमजोर होता है। लेकिन यह रत्न वो लोग ना पहने जो बुद्धि में बहुत तेज है या फिर सभी कार्यों में निपुण है तो उन्हें इस रत्न के न पहनने की सलाह दी जाती है।

पन्ना रत्न कितने रत्ती का पहनना चाहिए और इसकी विधि |

यदि कोई व्यक्ति इस रत्न को पहली बार धारण करता है तो वह कम से कम 5 रत्ती का पन्ना पहने क्योंकि इससे कम का अगर आप पहनते है तो आपको ये लाभ नहीं देगा। इस पन्ना को सोने या चांदी की किसी धातु में मढ़बाकर पहने और यदि आप इस रत्न को किसी और धातु में पहनते है तो भी यह आपको लाभ देगा। यह पन्ना 5 कैरेट से लेकर बहुत से प्रकार का होता है।

इस रत्न को धारण करने के बाद अपना असर लगभग 40 से 45 दिन के अंदर दिखाने लगता है। इस रत्न को जो भी व्यक्ति पहनते है उसके ऊपर इसका असर सिर्फ 1-3 साल तक ही होता है इसके बाद यह अपना असर दिखाना बंद कर देता है। इसलिए पन्ना को आप हमेशा बदलते रहे। यानि व्यक्ति को दूसरा पन्ना रत्न धारण करना चाहिए। यह पन्ना रत्न बुध का रत्न है।

इस रत्न को पहनने से पहले इस पन्ना को गाय के कच्चे दूध में या गंगाजल से धोकर, कुछ देर रखकर इसका शुद्धिकरण कर लें इसके बाद भगवान विष्णु के ऊपर पीले फूल चढाय और किसी सुगंधित धूप या अगरबत्ती को सात बार उनके सामने घुमाकर लगा दें।

क्योंकि भगवान विष्णु बुध ग्रह के आदि देवता है। और फिर इसके बाद बुध ग्रह के एक सीक्रेट मंत्र का जाप करके ही  पहनना चाहिए। इसके बाद इस पन्ना रत्न को बुधवार के दिन या रेवती नक्षत्र में पहना जा सकता है। याद रखे रत्ना जागृत होना चाहिए तभी कम करेगा अन्यथा नहीं। 


पन्ना रत्न का 12 राशियों पर प्रभाव | Impacts of Emerald on 12 Signs.

यह पन्ना बुध का रत्न है और यह रत्न व्यक्ति को अच्छा बनाता है, उसको सद्बुद्धि देता तथा उसकी वाणी में मधुरता आती है। लेकिन ज्योतिष विद्या के आधार पर यह रत्न सभी राशियों के लिए उचित भी नहीं है क्योकि इसका अच्छा प्राभव कुछ राशियों पर ही पड़ता है।

इसलिए हम सभी पाठकों से यही कहना चाहूंगा कि इस पन्ना धारण करने से पहले अपनी कुंडली किसी अनुभवी ज्योतिष आचार्य को अवश्य दिखवा लें। क्योकि भिन्न भिन्न राशियों पर पन्ना रत्न के भिन्न भिन्न प्रभाव मैं आपको नीचे दिए गए बिंदुओं में बताऊंगा इसलिए सभी बिंदुओं को ध्यान पूर्वक पढ़ें।  

पन्ना रत्न के फायदे

मेष राशि  

इस राशि के व्यक्तियों को यह पन्ना रत्न बहुत हानि पहुँचाता है। इसलिए इस राशि के लोगों को रत्न न पहनने की सलाह दी जाती है। बाकी अगर बुध अच्छा है और आचार्य जी कहते है तो आप पहन सकते है। 


पन्ना रत्न के फायदे

वृषभ राशि 

इस राशि के जातकों को यह रत्न लाभ देगा इसलिए इस राशि के व्यक्ति पन्ना धारण कर सकते है लेकिन इन्हें इस रत्न के साथ साथ सफेद पुखराज या तो फिर हीरा अवश्य पहनना होगा तभी यह पन्ना आपको लाभ देगा । फिर भी आचार्य जी से पूछना ज्यादा  अच्छा रहेगा । 


पन्ना रत्न के फायदे

मिथुन राशि 

इस राशि के लोगों के लिए यह पन्ना रत्न बहुत ल्क्की होता है क्योंकि यह उन व्यक्तियों की जन्म राशि का रत्न होता है इसलिए यह उन्हें बहुत फायदा देता है। और उन्हें जीवन में समस्याओं से लड़ने की शक्ति देता है। फिर भी आचार्य जी से पूछना ज्यादा अच्छा रहेगा। 


पन्ना रत्न के फायदे

कर्क राशि

इस राशि के लोगों पर पन्ना रत्न के स्वामी बुध का बुरा प्रभाव पड़ता है। क्योंकि यह उन्हें समस्याओं के अलावा और कुछ नहीं देता इसलिए इस राशि के लोगों को पन्ना रत्न बिल्कुल नहीं धारण करना चाहिए। फिर भी आचार्य जी से पूछना ज्यादा अच्छा रहेगा। 


पन्ना रत्न के फायदे

सिंह राशि 

इस राशि के लोगों के लिए यह पन्ना बहुत ही ज्यादा लाभकारी होता है क्योंकि जब व्यक्ति इसे धारण कर लेता है तो उसके जीवन में उसे हर काम में सफलता प्राप्त होती है इसलिए इस राशि के जातक पन्ना रत्न अवश्य पहने ।


पन्ना रत्न के फायदे

कन्या राशि

इस राशि के लोगों का यह पन्ना राशि का रत्न होता है इसलिए जब इस राशि के जातक पन्ना धारण कर लेते है तब उन्हें विविध क्षेत्रों में सफलता प्राप्त होती है। तो इस राशि के जातकों को पन्ना ज़रूर पहनना चाहिए।


पन्ना रत्न के फायदे

तुला राशि 

इस राशि के जातकों को इस पन्ना रत्न का लाभ तो मिलता है लेकिन जब वे इस पन्ना रत्न को हीरे के साथ पहनते है। इसलिए पन्ना के साथ हीरा ज़रूर पहने ताकि आप इससे होने वाले सभी फ़ायदों का लाभ उठा सकें। फिर भी आचार्य जी से पूछना ज्यादा अच्छा रहेगा। 


पन्ना रत्न के फायदे

वृश्चिक राशि 

इस राशि के व्यक्तियों के लिए यह रत्न लाभकारी तो होता है लेकिन कभी कभी इसके व्यक्ति को दुष्परिणाम भी सहने पड़ जाते है इसलिए इस पन्ना रत्न को पहनने से पहले किसी अनुभवी ज्योतिष से परामर्श अवश्य ले लें कि यह आपके लिए हानिकारक है या लाभदायक।


पन्ना रत्न के फायदे

धनु राशि 

इस राशि के लोगों को पन्ना रत्न पहनना चाहिए लेकिन इसके अच्छे परिणाम पाने के लिए इसके साथ पुखराज रत्न अवश्य पहनना चाहिए ताकि यह आपको बहुत ज्यादा लाभ पहुंचा सके । फिर भी आचार्य जी से पूछना ज्यादा  अच्छा रहेगा । 


पन्ना रत्न के फायदे

मकर राशि

इस राशि के जातकों को तो यह पन्ना रत्न भगवान के दिए हुए वरदान के समान है क्योंकि व्यक्ति इसे कभी भी पहन सकता है । चाहे उस कोई परेशानी हो या ना हो इसलिए इस राशि के व्यक्ति बिना किसी चिंता के पन्ना रत्न पहन लें ।फिर भी आचार्य जी से पूछना ज्यादा  अच्छा रहेगा । 


पन्ना रत्न के फायदे

कुंभ राशि 

इस राशि के लोग पहले तो इसे पहनने से पहले किसी अनुभवी ज्योतिष से परामर्श ले लें उसके बाद इस पन्ना को धारण करे लेकिन यदि व्यक्ति इस रत्न के अच्छे परिणाम चाहता है तो वह इस रत्न के साथ साथ नीलम रत्न को अवश्य पहने ।


पन्ना रत्न के फायदे

मीन राशि 

इस राशि के लोगों के लिए यह पन्ना रत्न हानिकारक हो सकता है यदि वे इसे अकेला पहनते है क्योंकि यह उन्हें सिर्फ नुकसान पहुँचाएगा । अगर आप चाहते हो कि यह रत्न आपको फायदे दे तो आपको किसी अनुभवी ज्योतिष से पूंछ कर इसके साथ कोई सा दूसरा रत्न पहनना होगा तभी यह पन्ना रत्न आपको लाभ पहुंचाया । और जब आप पन्ना को किसी अन्य रत्न के साथ पहन लेंगे तो आपको इसके सारे अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे । 


एक विशेष जानकारी –  मैं सभी पाठकों से यही कहना चाहूँगा कि यदि आप किसी भी रत्न को धारण करना चाहते है तो इससे पहले किसी भी अनुभवी ज्योतिष आचार्य से पूंछ लें उसके बाद ही रत्न धारण करें ।  


पन्ना रत्न असली तथा नकली होना | How to know If Emerald is Real

अगर हम असली पन्ना कि बात करें तो यह बहुत मुलायम तथा टिकाऊ होता है। इस रत्न में कार्बन के मिश्रण की वजह से इसकी बाहरी स्तरों पर काले धब्बे होते है। इस रत्न को पहचानने के ये सबसे आसान तरीके है, क्योंकि जो नकली पन्ना होता है वह बहुत कठोर होता है।

इस रत्न की बाहरी स्तरों पर कुछ दरारें सी होती है लेकिन इन दरारों की वजह से इस पन्ना रत्न की गुड़वत्ता पर कोई असर नहीं पड़ता है। अगर आप असली या नकली पन्ना की पहचान करना चाहते है तो नीचे दिए हुए बिंदुओं को ध्यान पूर्वक पढ़ें। 

  1. यदि असली पन्ना को हम लेते है और अपनी आंख के उपर रखे तो इस रत्न से हमारी आंख को बहुत ठंडक महसूस होती है। लेकिन यदि पन्ना रत्न नकली है तो इसमें हमे गर्माहट महसूस होती है। 
  1. अगर हम असली पन्ना को किसी कांच के बर्तन में पानी भरकर इस रत्न को उसमे डालते है तो उस रत्न में से निकलने वाली तरंगों में हमें विकिरण देखने को मिलता है । लेकिन नकली पन्ना में हमें ऐसा कुछ भी देखने को नहीं मिलता है। 
  1. अगर हम असली पन्ना के ऊपर कोई पानी की बूंद रखे तो वह एक जगह स्थित रहती है। जबकि नकली पन्ना में पानी की बूंद बिखर जाती है।

हमेशा से DsK Astrology ( ऑनलाइन ज्योतिष परामर्श )के ज्योतिष आचार्य दीपांशु सिंह कुशवाहा जी असली और प्रमाणित रत्न उपलब्ध कराते है। अगर आप किसी भी रत्न को खरीदना चाहते है तो आप हमारी वेबसाइट के माध्यम से खरीद सकते है। हमारे यहां उपलब्ध कराए जाने वाली रत्न 100% शुद्ध होते हैं। यह भी हम सुनिश्चित करते है।

हमारे यहां मिलने वाला हर रत्न ( Emerald ) लैब द्वारा प्रमाणित होता है हमारे यहां मिलने वाले हर रत्न का आकार निश्चित होता है और हमारे यहां पाए जाने वाले सभी रत्नों कि क्वालिटी चेक होने के बाद ही कॉस्टमर को दिया जाता है। हमारे पास पन्ना रत्न ( Emerald ) की सही कीमत तथा असली और बाजार के रेटों से कम कीमत में मिलता है। हम आशा करते हैं कि आप हमारे यहां से असली व प्रमाणित रत्न आसानी से ले सकते हैं।


पन्ना रत्न का विकल्प उपरत्न | Substitute of Panna Ratna

पन्ना रत्न ( Emerald ) एक ऐसा रत्न है। जिसकी बाजार में कीमत बहुत अधिक है इसलिए कभी कभी बहुत से व्यक्ति इस पन्ना रत्न को खरीद नहीं पाते कभी कभी क्या होते है व्यक्ति खरीद लेता है अगर तो वह नकली होता है या फिर उसने कोई ना कोई कमी होती है इसलिए इस रत्न के जैसे दिखने वाले इसके उपरत्न जो व्यक्ति आसानी से के सकता है इनकी कीमत भी कम होती है और ये बाजार में आसानी से मिल भी जाते है। कुछ पन्ना रत्न ( Emerald ) के उपरत्न जिनके नाम कुछ इस प्रकार है। 

  1. हरा बैरूज
  2. ओनेक्स
  3. मरगज

इस पन्ना रत्न ( Emerald ) के उपरत्नों में सबसे ज्यादा प्रभावशाली एवं शाक्तिशाली उपरत्न मरगज ही है । ये ऐसे उपरत्न होते है जिन्हें व्यक्ति आसानी से खरीदकर पहन सकता है । तथा ये बाजार में आसानी से मिल जाते है लेकिन सिर्फ रत्न खरीद के पहन लेने से कुछ नहीं होता क्योंकि रत्न को जागृत करना भी बहुत ज़रूरी है जो सिर्फ एक अच्छा ज्योतिषी ही कर सकता है । 


पन्ना रत्न से साबधानियां | Cautions of Emerald

यह पन्ना रत्न बुध का रत्न है। जिस व्यक्ति की कुंडली में बुध की ग्रह दशा ठीक ना हो। यह पन्ना रत्न बुद्धि को बढ़ाता है। इसलिए इसे धारण करते वक्त ये सावधानियां ज़रूर बरतें। 

  1. यदि व्यक्ति इसे धारण करता है तो पहले तो वह ये देख ले की पन्ना रत्न शुद्ध है या नहीं यदि नहीं पाता तो किसी ज्योतिष आचार्य को दिखा लें।
  2. जब व्यक्ति इसे धारण करे तो उसे इसकी पूरी विधि पता होनी  चाहिए कि यह रत्न कैसे पहना जाएगा। यदि विधि पूर्वक नहीं पहना तो व्यक्ति के उपर इसके नकारात्मक प्रभाव देखने को मिलेंगे। 
  3. जब भी व्यक्ति इसे पहने तो उससे पहले किसी अनुभवी ज्योतिष आचार्य से अपनी कुंडली को दिखवा ले ताकि ये पता चल सके की यह रत्न आप पहन सकते हो या नहीं।  
पन्ना रत्न
पन्ना रत्न
पन्ना रत्न