कन्या राशि का परिचय और विशेषताएँ

कन्या राशि का स्वभाव और व्यक्तित्व 

कन्या राशि

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कन्या राशि का स्वामी बुध ग्रह होता है। ज्योतिष में बुध ग्रह को बुद्धि और मित्रता का कारक माना जाता है। ये राशि चक्र में छठी राशि होती है। कन्या राशि को सभी राशियों में से सबसे अच्छी राशि मानी जाती है। इस राशि के जातक अपने कार्यों में दूसरों का शहरा लेना पसंद करते हैं। कन्या राशि के जातक पुरानी चीजों को खोजने का ज्यादा शौक रखते हैं। ये करते कम हैं दिखाते ज्यादा है।

यदि कोई व्यक्ति गरीब होता है तो ये उसके हालातों को देखकर उसकी मदद के लिए अपना हाथ बढ़ा देते हैं। ये बड़े ही दयालु स्वभाव के होते हैं। इनका स्वभाव लोगों को बहुत पसंद आता है। ये समाज में अपनी पहचान बनाने के लिए लोगो की मदद करते हैं और उनकी मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। ये जो वचन करते हैं उसे पूरा किए बिना पीछे नही हटते हैं। कन्या राशि के जातक खुद को बहुत समझदार और होशियार समझते हैं। ये उन लोगों से सक्त नफरत करते हैं जो इनके साथ गलत करने का प्रयास करते हैं। ( कन्या राशि की विशेषताएँ )

कन्या राशि के लोग अपने कार्यों को अपनी मर्जी अनुसार करना पसंद करते हैं। कन्या राशि के जातक कभी-कभी कार्यों के प्रति लापरवाह भी देखा जाता है क्योंकि ये कुछ ज्यादा स्मार्ट बनने की कोशिश करते रहते हैं। इनके चारे पर मुस्कान होती है लेकिनये कभी-कभी अंदर से बहुत ज्यादा दुखी हो जाते हैं। ये अपने से बड़ों का सम्मान करने वाले होते हैं। कन्या राशि के लोग स्त्रियॉं की ओरज्यादा खिचाव महसूस करते हैं क्योंकि इन्हे स्त्री प्रेम का बहुत अधिक शौक होता है। ये अच्छा व्यवहार बनाए रखने वालों में से एक होते हैं। ( कन्या राशि का परिचय )


यह भी पढ़ें – कन्या राशिफल 2022 | कन्या गुरु गोचर 2022


कन्या राशि के जातकों की खामियाँ 

कन्या राशि

कन्या राशि के लोग अपने स्वार्थ के लिए लोगों का इस्तेमाल करना बहुत अच्छे से जानते हैं। ये कभी-कभी अपना अच्छा व्यवहार दिखा के भी काम निकाल लेते हैं। कन्या राशि के लोगों को दूसरों का मज़ाक बनाना बहुत अच्छा लगता है जिसके कारण ये हमेशा अपने मजे के लिए दूसरों की हसी उड़ाते रहते हैं। कभी-कभी ये अपने मजे के लिए अपने प्रिय या जीवन साथी का भी मज़ाक बनाने लगते हैं जिससे अक्सर इनके रिश्ते खराब हो जाते हैं।

ये अपनी ही गलतियों के कारण कभी-कभी अपनी आर्थिक हालत खराब कर लेते हैं। ये छोटी बात को बड़ा बनाने में माहिर होते हैं। ये कभी-कभी राई का पहाड़ भी बना देते हैं जिससे उस व्यक्ति का भौत ज्यादा हसी मज़ाक बनाया जाता है। ये कार्यों के प्रति ज्यादा उत्साहित होते हैं लेकिन अक्सर जल्दबाज़ी करते हैं जिसके कारण इन्हे मुसीबत का सामना करना पड़ता है। इनके अंदर काम करने की क्षमता बहुत ज्यादा होती है। ये अपने हसी मज़ाक के चलते भी काम को अंजाम दे देते हैं।

कन्या राशि के जातकों के अंदर कार्य करने की इतनी क्षमता होती है की वे अकेले ही बड़ा से बड़ा काम अपने ज़िम्मेदारी पर संभाल लेते हैं। ये दोस्ती करने से पहले उस व्यक्ति का बैक्ग्राउण्ड देखते हैं, इसलिए इन्हे जल्दी अच्छा और सच्चा मित्र नही मिल पाता है। लेकिन ये गरीब और जरूरत मंद व्यक्ति की सहायता के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।


कन्या राशि का प्रेम जीवन ( लव लाइफ ) 

कन्या राशि

कन्या राशि के जातक अपने प्रेमी/प्रेमिका से अधिक प्रेम करने वाले होते हैं ये हमेशा दूसरों की अपेक्षा अपने प्रिय को अधिक प्रेम करना पसंद करते हैं ताकि इन्हे इनका प्रेमी/प्रेमिका कभी छोड़ के न जाए। कन्या राशि के जातक कभी किसी की ओर जल्दी आकर्षित नही होते हैं। यदि ये किसी को पसंद करते हैं तो उससे अपने मनकी बात जल्दी नही कह पाते हैं, जिसके कारण अक्सर ऐसा होता है की वह व्यक्ति किसी और के साथ दोस्ती कर लेता है।

ये अपने प्रिय के साथ शांति और खुद को सुरक्षित महसूस करते हैं। इन्हे अक्सर ऐसे प्रेमी/प्रेमिका की जरूरत होती है जो इन्हे समझे और इनका भौत ध्यान रखे, सभी क्गीजोन के लिए इनकी राय ले। यदि इनके दांपत्य जीवन को देखें तो इनका दांपत्य जीवन खुशियों से भरा होता है ल्कें कभी-कभी अंजान लोगों की वजह से इन्हे अपने जीवन में तनाव महसूस होने लगता है।

ये अपने प्रेम सम्बन्धों को मजबूत बनाए रखने के लिए प्रिय की गलतियों को नजरंदाज करते रहते हैं, लेकिन कभी-कभी इन्हे गुस्सा बहुत ज्यादा आ जाता है। ये अपने जीवनसाथी को लेकर हमेशा गंभीर रहते हैं। क्योंकि इन्हे अपने जीवनसाथी से बहुत प्यार होता है। 


कन्या राशि का स्वास्थ्य

कन्या राशि

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कन्या राशि के जातकों का स्वास्थ्य जीवन साधारण रहता है, लेकिन कभी-कभी इन्हे पेट से जुड़ी समस्याएँ बहुत अधिक हो जाती है जिससे ये बहुत अधिक परेशान भी होने लगते हैं। इनके शरीर की बनावट अक्सर सुंदर होती है। इनके रहन सहन का अंदाज भी सबसे अलग होता है।

यदि देखा जाए तो इन्हे ज़्यादातर पेट से जुड़ी समस्याएँ होती हैं जैसे- आंत में सूजन, गैस बनना और अफरा सा लगा रहता है। आप अपनी सेहत के प्रति थोड़े ज्यादा गंभीर रहते हैं जिसके कारण ये कई बार ऐसे बदलाव करते हैं, जिसके प्रभाव से आपके आस-पास के लोग खुद को अच्छा महसूस करते हैं। कन्या राशि के स्वामी बुध के प्रभाव से जातक को यौन संबंधी समस्याएँ अक्सर होने की संभावनाएं बनी रहती है।

कन्या राशि के लोग अपने खान-पान के प्रति बहुत सावधान रहते हैं। जो इनकी सेहत को भी अच्छा बनाए रखने में मददगार साबित होता है। ज्योतिष सलाह- सेहत को अच्छा बनाए रखने के लिए मसालेदार चीजें कम से कम खाने का प्रयास करें। 


कन्या राशि
कन्या राशि
कन्या राशि